नवीनतम समाचार

सेहत

विकासखण्ड प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पालसोड़ा में 15 जून को दस्तक अभियान का शुभारंम्भ किया गया

विकासखण्ड पालसोड़ा में दिनांक 15 जून 2017 से 15 जुलाई 2017 तक आयोजित होने वाले दस्तक अभियान का शुभारम्भ सरपंच महोदया पालसोडा श्रीमती कैलाशी बाई द्वारा बच्चे को विटामिन ए पिलाकर किया गया। दस्तक अभियान अंतर्गत विकासखण्ड में आने वाले प्रत्येक गांव में दस्तक भ्रमण दल (एएनएम, आशा एवं आंगनवाडी कार्यकर्ता) द्वारा घर-घर जाकर 6 माह से 5 वर्ष के बच्चो के स्वास्थ्य की जांच की जावेगी।
दस्तक अभियान के आयोजन हेतु प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पालसोड़ा में दिनांक 15 जून 2017 से  आशा एवं एएनएम को प्रशिक्षण दिया गया। उक्त प्रशिक्षण में विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रवीण पांचाल द्वारा में अभियान की जानकारी देते हुए बताया की दस्तक अभियान अंतर्गत आयोजित कि जाने वाली गतिविधियो अंतर्गत 5 वर्ष से कम उम्र के गंभीर कुपोषित बच्चो की सक्रिय पहचान, रेफरल एवं प्रबंधन किया जाना है। 6 माह से 5 वर्ष के बच्चो में गंभीर एनिमिया की सक्रिय स्क्रिनिंग एवं प्रबंधन। 9 माह से 5 वर्ष तक के समस्त बच्चो को विटामिन ए अनुपुरण किया जाना हैं। 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चो में बाल्यकालिन निमोनिया की त्वरित पहचान, प्रबंधन एवं रेफरल। 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चो में बाल्यकालिन दस्त रोग नियंत्रण हेतु ओआरएस के उपयोग संबधी सामुदायिक जागरूकता में बढावा एवं प्रत्येक घर में गृह भेट के दौरान ओआरएस पहुचाना। समुचित शिशु एवं बाल आहार पूर्ति संबधि समझाईश समुदाय को देना। एसएनसीयू एवं एनआरसी से छुट्टी प्राप्त बच्चो में बीमारी की स्क्रिनिंग व फालोअप को प्रोत्साहन। बच्चो में दिखाई देने वाली जन्मजात विकृतियो की पहचान। समुदाय में अभियान के दौरान बीमार बच्चो का मूलभूत प्रबंधन की जानकारी दी। 
शुभारम्भ अवसर पर ग्राम की आशा, एएनएम, आशा सहयोगी, सेक्टर सुपरवाईजर श्रीमती सुगना देवी हर, श्री विनोद पाटीदार, प्रकाश भूरा, राकेश टेलर, कु. मोनिका सोलंकी व ग्रामीण गर्भवती धा़त्री, व किशोरी बालिकाए उपस्थित थी। 
उक्त प्रशिक्षण का संचालन विकासखण्ड पालसोड़ा के खण्ड विस्तार प्रशिक्षक श्री के. एस. शक्तावत  के द्वारा किया गया एवं प्रशिक्षण के अंत में बीसीएम श्री अरविन्द परमार के द्वारा सभी का आभार व्यक्त किया गया। 

अधिक पढ़ें..

देश-दुनिया

अब पासपोर्ट बनवाने के लिए 50 किमी से दूर नहीं जाना होगा

नई दिल्ली -

पासपोर्ट अब आपके घर के पास ही बनेगा। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने हर नागरिक को उसके आवास के 50 किलोमीटर के दायरे में पासपोर्ट सुविधा केंद्र (पासपोर्ट सेवा केंद्र यानी पीएसके) स्थापित करने की घोषणा की है।

उन्होंने देश में 149 नए पासपोर्ट केंद्र स्थापित करने की घोषणा करने के समय अपनी मंशा बताई। ये केंद्र देश के विभिन्न डाकघरों में खोले जाएंगे। सरकार पहले ही 86 डाकघरों में पासपोर्ट सेवा केंद्र (पीओपीएसके) स्थापित करने का एलान कर चुकी है। स्वराज ने बताया कि मई 2014 में एनडीए सरकार के आने बाद अभी तक 251 पीएसके और पीओपीएसके खोले जा चुके हैं। जबकि 77 पीएसके पहले से हैं।

स्वराज ने बताया कि देश के डाकघरों का अध्ययन किया जा रहा है। तीसरे चरण में और डाकघरों में पासपोर्ट बनाने की सुविधा दी जाएगी। अध्ययन में यह बात सामने आई है कि पासपोर्ट बनाने की राह में सबसे बड़ी दिक्कत सुविधा केंद्रों का बहुत दूर होना है। इसलिए सरकार की कोशिश है कि हर व्यक्ति को उसके घर के 50 किलोमीटर के दायरे में पासपोर्ट सेवा केंद्र मिल सके।

केआइपी पोर्टल लांच इसके साथ ही स्वराज ने 'नो इंडिया प्रोग्र्राम' (भारत को जानो यानी केआइपी) नाम से एक पोर्टल को भी लांच किया है। यह विदेश में रहने वाले भारतवंशियों के लिए है जिन्हें उनकी जड़ों और मौजूदा भारत के बारे में जानकारी मिलेगी। वैसे केआइपी प्रोग्र्राम को वर्ष 2004 में ही लांच किया गया था जो विदेश में बसे भारतीय मूल के युवाओं को भारत आने और उन्हें यहां की संस्कृति, माहौल और लोगों से रूबरू करवाता है। इस योजना के 40 संस्करणों के तहत 1,293 प्रवासी युवाओं ने भारत का दौरा किया है।

पिछले वर्ष से हर वर्ष इस प्रोग्र्राम के तहत छह टीमों को भारत लाया जा रहा है। इसके तहत भारत में प्रवास की अवधि 21 से बढ़ाकर 25 दिन कर दी गई और एक या दो राज्यों के भ्रमण के लिए 10 दिनों का समय दिया गया है। इस कार्यक्रम के तहत गिरमिटिया देशों को तरजीह दी गई। गिरमिटिया देशों का जिक्र करते हुए स्वराज ने कहा कि ब्रिटिश शासक अच्छी नौकरी बहाने से एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर करा कर बहुत सारे भारतीयों को अपने उपनिवेशों में ले गए थे। इनमें अफ्रीकी और कैरिबियाई उपनिवेश प्रमुख हैं। एग्रीमेंट को लेकर ही इन देशों को गिरमिटिया कहा जाने लगा।

अधिक पढ़ें..

एजुकेशन

भोपाल में प्रतिभावन विद्यार्थी होंगे पुरस्कृत, विधायक सखलेचा ने बधाई देकर किया रवाना

जावद विधानसभा के 50 मेधावी विद्यार्थी का भोपाल में सम्मान होगा। विधायक ओमप्रकाश सखलेचा ने सभी का स्वागत किया और बधाई देकर भोपाल रवाना  किया। भोपाल में मुख्यमंत्री निवास पर समारोह का आयोजन होगा। 
शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जावद से रैली निकाली गई। जिसमे 2016 -17 शिक्षा सत्र की कक्षा 12वीं की परीक्षा में मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत लैपटॉप हेतु 50 विद्यार्थी पात्र शामिल हुए। रैली में इन विद्यार्थियों के साथ-साथ इनके पालकगण भी थे। नगर के कंठाल चौराहे, लक्ष्मीनाथ चौक, सब्जी मंडी होते हुए रैली बस स्टैंड पर पहुंची। यहां विधायक सखलेचा द्वारा विद्यार्थियों का पुष्प माला द्वारा स्वागत कर स्वल्पाहार वितरित किया। उन्होंने सभी विद्यार्थियों को उनके उज्जवल भविष्य हेतु शुभकामना दी। साथ ही मुख्यमंत्री मेघावी योजना की जानकारी भी दी। इसके अंतर्गत 75% से अधिक अंक प्राप्त होने वाले समस्त प्रकार के विद्यार्थियों को आगे की शिक्षा हेतु समस्त फीस में शुल्क में शासन द्वारा दिए जाने की योजना है। अगर कोई विद्यार्थी कक्षा 12 वीं के बाद काम्पटेटिव परीक्षा के माध्यम से आगे की पढाई करता है तो उसका सारा खर्च सरकार उठाएगी। स्वागत सत्कार के बाद सभी विद्यार्थी बस के माध्यम से भोपाल के लिए रवाना हुए। 28 जून को मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित किया जाकर प्रशस्ति पत्र एवं 25000 का पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। भोपाल जाने हेतु जिला प्रशासन द्वारा एक बस की व्यवस्था जावद में ही की गई ।

संस्थाओं ने भी किया स्वागत

रैली के दौरान भारत विकास परिषद, स्वर्णकार समाज, गायत्री शक्तिपीठ, चिल्ड्रन एकैडमी स्कूल समिति आदि समाज सेवी संस्थाओं ने विद्यार्थियों का पुष्पमाला द्वारा स्वागत किया। 

विधायक सखलेचा भी करतेे है पुरस्कृत

मुख्यमंत्री शिवराजिसंह चौहान जहां कक्षा 12 वीं में 85 फीसदी अंक प्राप्त करने वाले विद्याथिर्यों को लैपटॉप देकर सम्मानित कर रहे है। वहीं जावद विधायक ओमप्रकाश सखलेचा द्वारा भी प्रतिभावान विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया जा रहा है। कन्याशाला प्राचार्य मुकेश जैन ने जानकारी में बताया कि योजना के प्रारंभ होने के पश्चात से यह प्रथम अवसर है कि केवल जावद नगर के संकुल अंतर्गत समता विद्यापीठ, चिल्ड्रन एकेडमी तथा शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के 50 विद्यार्थियों का एक साथ इस योजना में चयन हुआ है । विदित हो विद्यार्थी  पिछले 5-7 वर्षों में सतत रुप से परीक्षा परिणामों में पूरे जिले के साथ-साथ प्रदेश में नाम रोशन कर रहे  है तथा इस दौरान नगर में एक स्वस्थ एवं प्रतिस्पर्धात्मक माहौल तैयार हुआ है । जावद विधानसभा क्षेत्र के विधायक ओमप्रकाश सकलेचा द्वारा पिछले कई वर्षों से शिक्षा में गुणात्मक सुधार हेतु शासकीय  विद्यालयों में अध्ययनरत कक्षा 10वीं तथा कक्षा 12वीं में 80% से अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को क्रमशः 3000 तथा 5000 रुपए की नगद राशि प्रोत्साहन स्वरुप प्रदान की जाती है । 

यह रहे उपस्थित

भाजपा जिला महामंत्री श्याम काबरा, मंडल अध्यक्ष शांतिलाल बग्गड़, नगर अध्यक्ष कैलाश प्रजापत, सजीव शर्मा, आयुष गोयल, धर्मेंद्र बैरागी, कैलाश सुथार, गोटूलाल सुथार, अभिभाषक संघ अध्यक्ष अरिवंद शर्मा, तुलसीराम धाकड़, कन्याशाला प्राचार्य मुकेश जैन सहित पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे।

अधिक पढ़ें..

जरुर पड़े

क्रांगेस कार्यकर्ताओ ने मंत्री नरोत्तम मिश्रा का पुतला दहन किया, चुनाव आयोग द्वारा अयोग्य घोषित करने के बाद मंत्री को बर्खास्त करने की मांग

मप्र कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर रविवार को शहर के विजय टाकिज चोराहे पर  जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा का पुतला जलाया गया । चुनाव में अयोग्य घोषित होने के बाद भी बर्खास्त नहीं करने पर क्रांगेस कार्यकर्ताओ ने यह विरोध प्रदर्शन किया । शहर के विजय टाकिज चोराहे पर क्रांगेस कार्यकर्ता बड़ी संख्या में एकत्रित हुए और मंत्री नरोत्तम मिश्रा को बर्खास्त करने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन करते हुए क्रांगेसियो ने मंत्री का पूतना फुका ! क्रांगेस जिलाध्यक्ष नंदकिशोर पटेल में कहा की चुनवा आयोग दुवारा मंत्री नरोत्तम मिश्रा को विधायक पद से अयोग्य घोषित कर दिया गया ! सुप्रीम ने भी चुनाव आयोग के इस फेसले पर मोहर लगा दी ! उसके बाद भी शिवराज सरकार ने मंत्री को पद से प्रथक नहीं किया ! प्रदेश क्रांगेस के आह्वान पर मंत्री नरोत्तम मिश्रा का पुतला दहन करते हुए सरकार से ऐसे मंत्री को जल्द से जल्द बर्खास्त करने की मांग की गयी ! इस मोके पर अरविन्द चोपड़ा, नाथुसिंह राठौर, अनिल चोरसिया, बाबु सलीम, ब्रजेश मित्तल, राकेश सोनगर, पार्षद योगेश प्रजापति, आशा सांभर, साबिद मंसूरी, भानुप्रताप सिंह, राकेश सोनगर, राकेश अहीर, हिदायत उल्ला खा सहित कई क्रांगेस कार्यकर्ता उपस्थित थे ! 

 

 

अधिक पढ़ें..

विशेष खबर

किसान ने कर्ज चलते की ख़ुदकुशी करने की कोशिश,  परिवारजनों के पास किसान के उपचार के भी नही है पेसे, 

नीमच जिले के जावद विधानसभा क्षेत्र में एक किसान ने कर्ज के चलते कीटनाशक पीकर अपनी जीवन लीला समाप्त करने की कोशिश करी ! किसान को उपचार के लिए मंगलवार की रात्रि में जिला अस्पताल से उदयपुर रेफर किया गया था जहा बुधवार की शाम किसान की हालात में सुधार दिखाई दिया ! तो वही परिवार एक तरफ तो कर्ज में डूबा हुआ है दूसरी तरफ परिवारजनों के पास किसान के उपचार के पेसे भी नहीं है! किसान के पुत्र दशरथ बावरी ने बताया की उदयपुर में उपचार के दोरान 24 घंटो में 15 हजार रूपये का खर्चा आया ! डॉक्टरो ने उदयपुर में पाच दिन तक आईसीयु में रखने की बात कही इतने पेसे हमारे पास नहीं है ! हम पहले ही कर्ज में डूबे हुए है ! जिसके चलते परिजनों को किसान प्रेमचन्द बावरी को वापस अपने गाव लेकर आना पड़ा! गुरुवार की दोपहर ग्राम ढोपरी के किसान को जिला अस्पताल लाया गया ! जहा किसान की हालात गंभीर बताई जा रही है ! 
ख़ुदकुशी का प्रयास रने वाले किसान ने बताया की उसके ऊपर कर्ज बहोत हो गया है ट्रेक्टर फाइनेंस वाले और बैंक वाले परेशांन कर रहे थे जिसके चलते परेशांन होकर किसान ने यह कदम उठाया ! किसान ने कर्ज का कारन मोदी सरकार की नोटबंदी को बताया ! जिसके कारन किसान लगातार कर्ज में डूबता गया !

जिला अस्पताल में किसान को गुरुवार दोपहर जब भर्ती किया गया तो डॉक्टर विजय भारती ने बताया की मरीज की हालात काफी ख़राब है जिसके चलते उदयपुर रेफर किया गया था पर परिवारजन वापस नीमच लेकर आये ! अब प्राथमिक उपचार दिया जा रहा है ! आगे कुछ कह नहीं सकते ! हालात बहोत ख़राब है !

 

अधिक पढ़ें..
© Copyright Your Website 2015-16. Website Developed By : ABIT CORP